Ajmer – नवरात्रि के पावन पर्व पर नौ देवियों की चैतन्य झांकी का आयोजन – Navratri Jhanki

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की पंचशील  सेवा केंद्र के तत्वाधान में नवरात्रि के पावन पर्व पर नौ देवियों की चैतन्य झांकी का आयोजन  राजीव सर्किल पंचशील में दिनाक 7, 8, 9 अक्टूबर 2021 को किया गया। झांकी का शुभारंभ  मुख्य अतिथि पोस्ट मास्टर जनरल कर्नल सुशील कुमार,डॉक्टर रमेश चंद क्षेत्रपाल,आतिश माथुर पार्षद,राजयोगिनी शांता बहन, बी के रूपा, ज्ञान चंद पंवार अध्यक्ष ए ब्लॉक सेवा समिति ने दीप प्रज्वलित कर किया गया कार्यक्रम का संचालन बी के रूपा बहन ने किया दूसरे दिन अशोक पंसारी,लाइंस क्लब अध्यक्ष,डॉक्टर एस डी बाहेती,जितेंद्र शर्मा, प्रकाश जेठरा, बी के रूपा, बी के ज्योति बहन ने झांकी का शुभारंभ द्वीप प्रज्वलन कर किया।   सिद्धिदात्री,महागौरी,शैलपुत्री, कात्यायनी,मां लक्ष्मी ,मां वैष्णो, दात्री,महागौरी,शैलपुत्री,कुष्मांडा,,,मां सरस्वती आदि देवियां विराजमान थी ।इस अवसर पर राजयोग आध्यात्मिक प्रदर्शनी भी लगाई गई ।राजयोग आपके जीवन को पूरी तरह बदल देगा हमारे अंदर जो असीम गुण और शक्तियां विराजमान है , उन्हें हम राजयोग के माध्यम से विकसित कर हमारा जीवन भी देवियों की तरह दिव्य और सभी दैवी शक्ति से भरपूर कर सकते है , यह नवरात्रि पर्व सिर्फ उत्सव का पर्व ना होकर उत्सव के साथ साथ अपने जीवन को दैवी शक्ति से भरपूर करने का उत्सव है । उपरोक्त उद्गार झांकी का शुभारंभ करने आए सभी अतिथि गणों ने कहा।
शनिवार को झांकी के समापन पर महापौर नगर निगम अजमेर ब्रजलता हाड़ा ,पूर्व विधायक गोपाल बाहेती,सोमरतन आर्य,पार्षद वीरेंद्र वालिया, भारती वास्तव,पार्षद रूबी जैन ने नौ देवियों की चैतन्य झांकी में पहुंच कर दर्शन लाभ लिए । महापौर हाड़ा और रूबी जैन ने देवियों की आरती उतारी । महापौर ने कहा ऐसी जीवंत झांकी मैंने अपने जीवन में पहली बार देखी , साथ साथ उन्होंने ब्रह्माकुमारी बहनों की बहुत प्रशंसा करते हुए कहा की , ब्रह्माकुमारी बहने ऐसे अलौकिक कार्यक्रम का आयोजन करके हमारे समाज में एक नई जागृति लाने का तथा समाज को सकारात्मक दिशा देने का महान कार्य कर रही है , नौ देवियों की चैतन्य झांकी देख अभिभूत होकर उन्होंने कहा की हम भी राजयोग का अभ्यास कर स्वयं को आत्म सशक्तिकरण करेंगे एवं सभी को आत्म सशक्त होने के लिए जागरूक करेंगे।   राजयोगनी शांता दीदी ने कहा की ऐसी झांकी से हमारे भारत देश की  संस्कृति कितनी ऊंची है , उसका पता चलता है , इसलिए हमें अपने महान संस्कृति का मान रखकर राजयोग के अभ्यास का दैनिक जीवन में  उपयोग करना चाहिए ।

Silver Jubilee Celebration of Ajmer Dholabhata Centre

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय धोला भाटा सेवा केंद्र अजमेर अपनी ईश्वरीय सेवाओं का 25 वर्ष का सफर तय कर रहा है इस कार्यक्रम की सिल्वर जुबली मनाई. इस कार्यक्रम मे राजयोगनी शिक्षिका अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय माउंट आबू एवं अंतर्राष्ट्रीय वक्ता राजयोगनी शीलू बहन,राजयोगी सुरेन्द्र भाई (नीमच डायरेक्टर),  बी के विवेक भाई (माउंट आबू) बी के सविता,बी के सुनिता,बी के रुपा, बी के आशा, पाठक जी महाराज चित्रकूट धाम पुष्कर ,नितिन शर्मा ,शलेश गर्ग ने द्वीप प्रज्वलन का कार्यक्रम का शुभराभ किया । 
 
इस  ब्रह्मा कुमारी राजयोग सेंटर से एक शोभा यात्रा का आयोजन भी किया गया है, कार्यक्रम में घोड़े गाड़ी बग्गी में  राजयोगनी शीलू बहन, राजयोगिनी शांता बहन विराजमान थे। बैंड बाजे के साथ यह यात्रा लक्ष्मी गार्डन धोला भाटा पहुंची और साथ  मे शिव की बारात भी  थी। इस अवसर पर केक भी काटा गया जिस पर सिल्वर जुबली लिखा हुआ था ।
 
शीलू बहन ने कहा कि आध्यात्मिक प्रेम और आनंद की अनुभूति तभी हो सकती है जब परमानंद परम ज्योति परम शिक्षक, परम सतगुरु, परमपिता परमात्मा से हमारा संबंध जुड़ जाए तो परम आनंद की अनुभूति हो सकती है. इस अनुभूति को ही राजयोग कहा जाता है राजयोग से ही आत्मा को बल मिलता है और आत्मा शक्तिशाली बनने लगती है. राजयोग ही  वह शक्ति है जिससे हमारे विकार समाप्त हो जाते हैं 
 
इस अवसर पर राजयोगनी शांता बहन ने कहा सर्व आत्माओं के पिता परमात्मा शिव है वहीं आकर हमें राजयोग की शिक्षा देते हैं और राजयोग के बल से यह हमें सुख-शांति की प्राप्ति होती है. नीमच के सुरेंद्र भाई ने कहा कि मैं आज जिंदा हूं तो राजयोग के बल से ही जिंदा हूं मुझे नौ नौ ब्रेन ट्यूमर हो गए थे. लेकिन राजयोग की शक्ति से मैं आज भी अनेक कार्यक्रम करता हूं और साधारण  जीवन यापन कर रहा हूं. आबू से पधारे ब्रह्माकुमार विवेक भाई ने कर्मक्रम का  जोरदार संचालन किया । 
 
इस अवसर पर  बालिकाओं ने राजस्थानी नृत्य भी प्रस्तुत किया ।  25 वर्षों का सेवाओं का जो सफर तय किया उसका विवरण स्क्रीन पर प्रस्तुत किया.  जिसमे अनेक वी आई पी के साथ  फोटो थे इस अवसर पर सेवा केंद्र की संचालिका बी के कल्पना बहन ने कहा कि 25 वर्ष का समय कैसे निकल गया कुछ पता  ही नही, खुशी खुशी दिन निकल गये.  बी के योगनी,  बी के रूपा बहन बी के आशा ,बहन भी मौजूद रहे और ब्रह्माकुमारी परिवार
के अनेक भाई  बहन मौजूद  रहे.  दिव्य दर्पण भवन भरत वाटिका के पीछे से शुभारम्भ हुआ ।
 
कार्यक्रम के अंत में ब्रह्मा कुमारी सविता बहन राजयोग की सुखद अनुभूति कराई ।  आज ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्वविद्यालय के भव्य सिल्वर जुबली समोराह में अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे।   दुखियों का सहारा चेयर पर्सन युवा नेता नितिन शर्मा सिंधी समाज के जिला महामंत्री गिरीश लालवानी,कांग्रेश महिला उपाध्यक्ष रागिनी चतुर्वेदी डिवाइन अडोप फाउंडेशन चेयर पर्सन गुलशा बेगम ने शीलू बहन का बुके भेंट कर स्वागत किया ।

अजमेर- द्वारका नगर के शिव वरदान भवन का वार्षिकोत्सव

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की शाखा द्वारका नगर के शिव वरदान भवन का वार्षिकोत्सव रविवार को  माउंट आबू से पधारे ब्रह्माकुमारीज के सेक्रेटरी और चार्टर्ड अकाउंटेंट  राजयोगी बी के ललित भाईजी,अजमेर सम्भागीय संचालिका राजयोगिनी शांता बहन,सोशल एक्टिविटी ग्रुप के सेक्रेटरी ब्रह्माकुमार राजयोगी बी के भानू भाई और राजयोगी सन्दीप भाई और सभी बी के भाई बहनोके सानिध्य में हर्षोल्लास से मनाया गया।
बी के ललित  भाइजी ने बी के परिवार को जहाँ अपने जीवन का  रमणीक अनुभव सुनाया वही अपने अद्भुत जीवन परिवर्तन में परमात्मा की मदद की बातोंसे सभी के नेत्रों को स्नेहाश्रु से नम कर दिया।इस अवसर पर अजमेर सम्भाग की लगभग सभी सेवाकेंद्र संचालिका बहनो ने भी उपस्थिति दी ।
शाम को आयोजित चार्टड अकॉउंटेन्ट,सीनियर लेखाधिकारी,मुख्य लेखाधिकारी और अकॉउंट से संबंधित कार्यभार संभालने वाले एवम सी ए के विद्यार्थियों के लिए आयोजित कार्यशालामे आपने गिफ्ट ऑफ हैप्पीनेस विषय पर प्रकाश डालते हुए बताया कि  शुभ भावना और शुभकामना हमारे जीवन में विशेष महत्व रखती है इसीलिए परमात्मा में प्रगाढ़ निश्चय रख  हम इस विश्व कल्याण की भावना से असंभव को भी संभव बना सकते हैं। जिस प्रकार जीवन मे पांच तत्त्वों की सदा आवश्यकता है ठीक ऐसे ही खुशी भी आत्मा को परमानैंट चाहिये तो उसका सोर्स भी परमानेंट होना चाहिए।तो वह सप्लायर कोई और नही स्वयँ परमात्मा है अतः स्वतः सकारात्मक रहे तो खुशी बनी रहेगी। राजयोगनी  शांता  बहन  ने शिव वरदान भवन की सेवाओं को सभी को बधाई दी इस कार्यक्रम में  सीए एचपी जैन जी, सीए सुनील निगम, सर्वधर्म मैत्री संघ के अध्यक्ष प्रकाश जैन  लायनस सीमा पाठक ,भारत विकास परिषद से डॉ छबलानी,सेवा क्लीनिक सनचलिका समाजसेवी आशा जी आदि के साथ साथ ही शहर के अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।
बी के रूपा बहन  द्वारका नगर सेवा केंद्र की संचालिका ने  सभी का आभार व्यक्त किया। बी के ज्योति बहन और समस्त अजमेर संभाग। से उपस्थित ब्रह्माकुमारी। बहनों ने सभी का। स्वागत किया। और केक कटिंग कर अपनी खुशी जाहिर की ।

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय नवाब के बेडा द्वारा 500 बन्दियों को ब्रह्माकुमारी बहनो द्वारा राखी बांध कर परमात्म संदेश दिया

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय नवाब के बेडा की ओर से आज दिनाक 14 अगस्त को दोपहर 12 बजे जेल के 500 बन्दियों को ब्रह्माकुमारी बहनो द्वारा राखी बांध कर परमात्म संदेश दिया गया।इस अवसर पर जेल अधीक्षक नरेंद्र सिंह,जेलर नरेंद्र स्वामी ,डिप्टी जेलर प्रियंका चौधरी मौजूद थे।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी अंकिता बहन ने राखी का आध्यात्मिक संदेश देते हुए कहा कि जब हम स्वयं को पवित्रता के बंधन में बांधते तब परमात्म हमारी हर प्रकार से रक्षा करता है।हमे अपने जीवन में कम से कम 5 लोगो का भला अवस्य करना है जिससे हमें दुआए मिले और हमारा जीवन अच्छा बने।
ब्रह्माकुमारी इंदिरा बहन ने राजयोग करवाके सब को शांति की अनुभूति करवाई ।ब्रह्माकुमारी शिल्पी बहन ने संस्था का परिचय दिया।कार्यक्रम का संचालन ब के ओम प्रकाश कुमावत जी ने किया।
इस अवसर पर ब्रह्माकुमारी रिया,वंदना,कविता एवं प्रकाश भी मौजूद रहे

Spiritual Awareness for Social Oneness | Ajmer


अजमेर : समाधान शिविर बी.के सूर्य भाई जी और रुपेश भाई जी

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की शाखा वैशाली नगर चौरसिया वास रोड शिव वरदान भवन के तत्वावधान में ईश्वरीय विश्वविद्यालय के पीस ऑफ माइंड चैनल के समाधान कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राजयोगी ब्रह्माकुमार सूरज भाई एवं ब्रह्मा कुमार रुपेश एवं ब्रह्माकुमारी गीता बहन के अजमेर आगमन पर बजरंगगढ़ से भागचंद कोठी तक बड़ी संख्या में भाई बहन सम्मिलित हुए  महारथी सूरज भाई जी को हाथी पर बैठाकर समारोह में ले जाया गया जा हजारों की संख्या में समस्याओं का समाधान कार्यक्रम में लोग मौजूद थे इस कार्यक्रम में राजयोगी सूरजभाई जी ने गणमान्य नागरिकों को संबोधित किया उन्होंने संबोधित करते हुए कहा की उठे तो मुस्कुराते हुए सोए तो मुस्कुराते हुए मनुष्य बहुत सारी बातें मन में लेकर सोते हैं उठते हैं तो बहुत सारी बातें मन में लेकर उठते हैं यह सारी बातें मन में इकट्ठी हो जाती है और उसी कारण हम समस्याओं का सामना करते हैं हमारे अंदर बहुत शक्ति हैं वह सोई हुई रहती है उनको जगाना है हम सर्वशक्तिमान भगवान की संतान है भगवान से नाता जोड़ने से सारी खोई हुई शक्तियां जाग्रत हो जाती है वह हमारा पिता है इस बात को सोचने से हमारी सारी समस्याओं का समाधान हो जाता है हमारा पिता सर्वशक्तिमान है हमारा मन बहुत शक्तिशाली है उनको सुंदर विचारों से सुबह उठते ही भर ले जिससे सारी शक्ति मन में आ जाती है सर्वशक्तिमान परम पिता पिता को याद करें हमारे पास बहुत सकते हैं समारोह को ब्रह्माकुमार रूपेश ब्रह्मा कुमार रुपेश ब्रह्माकुमारी गीता बहन ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया कार्यक्रम के पूर्व में विधायक वासुदेव देवनानी राजयोगिनी शांता बहन ,ब्रह्माकुमार भानु ने दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया इस अवसर पर विधायक अनिता भदेल और सर मैत्री संघ के अध्यक्ष प्रकाश जैन और कई संगठनों ने सूरज भाई जी का स्वागत किया दरगाह कमेटी के अजमत भाई ने पगड़ी वे शॉल पहनाकर सभी वक्ताओं का सम्मान किया । कार्यक्रम का संचालन ब्रह्मा कुमारी रूपा मैंने किया इस अवसर पर ईश्वरी परिवार के अनेक भाई बहन में उपस्थित रहे । पूर्व महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिता भदेल जी एवं पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री को ईश्वरीय सौगात भेंट कर सम्मान दिया

 

Ajmer Shashtrinagar Service News